5 मार्च 2011

ख़ामोशी



कितना वाचाल है समंदर का ये अबोलापन ,
जो फैला है मीलों से,दिल तक मेरे !
मचलती लहरें,फुदकती हैं किनारों तक,
और लौट आती हैं ,फिर फिर
किनारों से गले मिल !
ज्यूँ सपने साकार होते होते ,
लौट जाएँ आँखों में फिर से !
बातें करता है ये मुझसे अपने एकाकीपन कि,
तन्हाई मैं डूबते हवा के झोंकों और ,
उनके बिखर जाने की ...सपनों कि तरह...!
कहानी कहता है,नदियों में खुद के समा जाने की!
तपते सूरज को अपने नरम आगोश में पनाह देने की!
मछली को मछली बने रहने की  !
पूछता है वो मुझसे, मेरे भीतर सुलगती नदियों की बात ,
टटोलता है उन तूफानों के स्त्रोत ,जिन्हें
पहेली बने अरसा हुआ !
जानती हूँ एक दिन खामोश हो जायेगा ये,
और मेरे कान भी !
देखेंगे हम दोनों बस
भीतर कुछ घटते हुए !


16 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (7-3-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. पूछता है वो मुझसे, मेरे भीतर सुलगती नदियों की बात ,
    टटोलता है उन तूफानों के स्त्रोत ,जिन्हें
    पहेली बने अरसा हुआ !
    behad sundar abhivyakti.

    उत्तर देंहटाएं
  3. शुक्रगुज़ार हूँ वंदना जी !आपका प्रोत्साहन निस्संदेह पर प्रेरणा देता है मुझे...

    उत्तर देंहटाएं
  4. धन्यवाद मृदुला जी ,आपको कविता अच्छी लगी !

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुंदर रचना ...... सुंदर बिम्ब के साथ विचारों की गहन अभिव्यक्ति.....

    उत्तर देंहटाएं
  6. बातें करता है ये मुझसे अपने एकाकीपन कि,
    तन्हाई मैं डूबते हवा के झोंकों और ,
    उनके बिखर जाने की ...सपनों कि तरह...!

    सुंदर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर ..मन के समंदर का अबोलापन भी बहुत शोर करता है

    उत्तर देंहटाएं
  8. स्वागत है आपका कुस्वंश जी ''चिंतन''में !धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  9. संगीता जी ,नमस्कार..बहुत दिन बाद देखा आपको ...:)!
    शुक्रिया ,

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत गहन चिंतन...बहुत संवेदनशील प्रस्तुति..

    उत्तर देंहटाएं
  11. पूछता है वो मुझसे, मेरे भीतर सुलगती नदियों की बात ,

    खूबसूरत.

    उत्तर देंहटाएं
  12. ज्यादा मत बैथिये समुद्र के पास वर्ना न जाने क्या क्या पूच्हेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  13. bouth he aacha post hai aapka dear ... kee[p it up
    happy women's day...Visit My Blog PLz..
    Download Free Music
    Lyrics Mantra

    उत्तर देंहटाएं
  14. bahut shukrguzaar hun apki manpreet .achcha laga apko ''chintan''par dekh !apko bhee ''mahila divas kee dheron shubhkamnayen apka blog zaroor padhungee :)

    उत्तर देंहटाएं